तथ्य जाँचः क्या अमरुद, टूथपेस्ट, नमक, अदरक और हल्दी के पेस्ट द्वारा दांतों को सफेद किया जा सकता है?

Published on:

Last Updated on फ़रवरी 15, 2023 by Neelam Singh

सारांश 

rating

सोशल मीडिया द्वारा जारी एक वीडियो द्वारा दावा किया जा रहा है कि अमरुद, टूथपेस्ट, नमक, अदरक और हल्दी के पेस्ट द्वारा दांतों को सफेद किया जा सकता है। जब हमने इस पोस्ट का तथ्य जाँच किया तब पाया कि यह दावा ज्यादातर झूठ है। 

दावा 

सोशल मीडिया पर एक वीडियो द्वारा दावा किया जा रहा है कि अमरुद, टूथपेस्ट, नमक, अदरक और हल्दी के पेस्ट द्वारा दांतों को सफेद किया जा सकता है। 

Feb Hindi

तथ्य जाँच 

ओरल हेल्थ का क्या मतलब है? 

अच्छा ओरल हेल्थ का होना बेहतर स्वास्थ्य की सबसे पहली सीढ़ी है इसलिए अपने दांतों और मुंह के हर हिस्से को स्वस्थ्य और साफ रखना बेहद जरुरी है। National Library Of Medicine द्वारा प्रकाशित Oral Health Education and Promotion Programmes: Meta-Analysis of 17-Year Intervention रिसर्च के अनुसार ओरल हेल्थ में ना केवल दांतों की समस्याएं शामिल हैं बल्कि मुंह और चेहरे का दर्द, मुंह और गले का कैंसर, मुंह के घाव, मसूड़ों के रोग, दांतों की सड़न और अन्य स्थितियां भी शामिल हैं।

इसके अलावा कुछ लोगों में स्वास्थ्य से जुड़ी परेशानियां केवल स्वस्थ ओरल हेल्थ ना रखने के कारण होती हैं। यही कारण है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने ओरल हेल्थ के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए एक रणनीति को लागू किया है। 

किन कारणों से दांतों की रंगत प्रभावित होती है? 

दांतों की रंगत अधिकतर दिनचर्या और खराब डेंटल हेल्थ के कारण प्रभावित होती है। चाय, कॉफी, शराब जैसे पेय पदार्थ व अत्याधिक तैलीय खाद्य पदार्थों का सेवन करने से भी दांतों की रंगत प्रभावित होती है। इसके अलावा तंबाकू और धूम्रपान करने से भी दांतों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है। वहीं खराब डेंटल हेल्थ जैसे – समय पर ब्रश ना करना भी दांतों की सेहत को प्रभावित करते हैं। Fluoride युक्त पानी का सेवन भी दांतों की पीली रंगत के लिए जिम्मेदार होता है। 

इसके अलावा कुछ चिकित्सीय उपचार जैसे – Radiation और Chemotherapy के कारण भी दांत खराब हो सकते हैं। साथ ही कुछ ऐसी दवाइयां भी हैं, जिनका लंबे समय तक सेवन करने से बच्चों के दांतों का विकास प्रभावित होता है और दांतों की रंगत बिगड़ सकती है। जैसे – tetracycline and doxycycline ड्रग्स का सेवन 8 वर्ष तक के बच्चों के दांतों के लिए हानिकारक होता है। Silver sulfide युक्त पदार्थों का सेवन दांतों को काला बना देता है। 

इसके अलावा सबसे अहम बात यह है कि उम्र के बढ़ने के साथ दांतों के Enamel की परत हटने लगती है, जिस कारण पीले रंग की डेंटिन (yellow-coloured dentin) दिखाई देने लगती है और दांत पीले दिखाई देने लगते हैं।  

क्या अमरुद के पत्ते दांतों को सफेद बनाते हैं? 

अमरुद के पत्तों के बारे में कोई शोध मौजूद नहीं है जो यह बताता हो कि अमरुद के पत्ते दांतों को सफेद बनाते हैं मगर एक Psidium guajava: A review on its potential as an adjunct in treating periodontal disease रिसर्च के अनुसार अमरुद के पत्तों का इस्तेमाल ओरल हेल्थ को मेंटेन रखने के लिए किया जा सकता है। जैसे- Antiplaque, gingivitis, periodontitis

क्या हल्दी दांतों को सफेद बनाती है?

कुछ हद तक क्योंकि हल्दी में ओरल हेल्थ को बेहतर बनाने की खूबियां पाई जाती हैं। हल्दी एक बेहतरीन Antioxidant, Anti-inflammatory और Antimicrobial की तरह काम करता है। Indian Journal of Dental Research के मुताबिक हल्दी दांतों एवं मसुड़ों को मजबूत बनाती है और swelling, gingivitis और periodontitis जैसी दांतों की बीमारियों से रक्षा भी करती है। हालांकि ऐसा कोई शोधपत्र मौजूद नहीं है, जो कहता हो कि हल्दी उन सभी स्थितियों को ठीक कर सकती है जिनके कारण दांत पीले होते हैं। 

क्या अदरक और नमक द्वारा दांतों को सफेद बनाया जा सकता है?

Ginger: A functional herb अध्ययन से पता चला है कि अदरक में nutraceutical और अन्य औषधीय गुण होते हैं। साथ ही Protective and therapeutic potential of ginger (Zingiber officinale) extract and [6]-gingerol in cancer: A comprehensive review के अनुसार अदरक में antioxidant, anti-inflammatory और antimicrobial गुण भी होते हैं, जो ओरल हेल्थ को बेहतर बनाने में सहायक होते हैं। हालांकि दांतों को सफेद करने के घरेलू उपाय के रूप में अदरक के उपयोग के समर्थन में प्रमाण मौजूद नहीं हैं। 

वहीं, नमक मतलब सोडियम क्लोराइड का उपयोग कई टूथपेस्ट में किया जाता है।  Salt water mouthwash post extraction reduced post operative complications के अनुसार प्लाक के निर्माण को रोकने और ओरल हेल्थ को बनाए रखने के साथ-साथ मुंह के छालों को ठीक करने या दर्द में भी नमक का इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि नमक की abrasive प्रकृति के कारण घर के बने पेस्ट में इसका नियमित उपयोग हानिकारक हो सकता है।

क्या अमरुद पत्तों, अदरक, नमक, हल्दी और टूथपेस्ट के मिश्रण से दांत सफेद होंगे?

Pooja Bhardwaj, BDS

दंत रोग विशेषज्ञ डॉ. पूजा भारद्वाज बताती हैं, “दांतों को अमरुद पत्तों, अदरक, नमक, हल्दी और टूथपेस्ट के मिश्रण के जरिए सफेद बनाने को लेकर कोई प्रमाण मौजूद नहीं है लेकिन नियमित तौर पर सही टूथपेस्ट का इस्तेमाल करना और दांतों की देखभाल करना दांतों को स्वस्थ्य जरुर बनाए रख सकता है।”  

कुछ वक्त के बाद हर व्यक्ति के दांतों की रंगत पीली पड़ने लगती है। दांतों को सफेद बनाने से संबंधित कई तरह के शोधपत्र मौजूद हैं, जैसे- The tooth-whitening process: an update. हालांकि प्रोफेशनल तरीकों से दांतों का इलाज कराना या सफेदी की जाँच कराना अहम होता है। 

विभिन्न तरह के घरेलू उपायों के जरिए दांतों को भले ही कुछ क्षण के लिए सफेद बनाया जा सकता हो लेकिन लंबे समय तक ऐसा नहीं किया जा सकता। यहां तक कि कुछ घरेलू उत्पादों का लंबे वक्त तक उपयोग करना दांतों के लिए हानिकारक साबित होता है। अतः जरूरी है कि दांतों को स्वस्थ्य बनाने एवं सफेद बनाने के लिए चिकित्सीय सलाह ली जाए, ना कि गलत और भ्रामक दावों पर भरोसा किया जाए।

Disclaimer: Medical Science is an ever evolving field. We strive to keep this page updated. In case you notice any discrepancy in the content, please inform us at [email protected]. You can futher read our Correction Policy here. Never disregard professional medical advice or delay seeking medical treatment because of something you have read on or accessed through this website or it's social media channels. Read our Full Disclaimer Here for further information.

Disclaimer
Medical Science is an ever evolving field. We strive to keep this page updated. In case you notice any discrepancy in the content, please inform us at [email protected]. You can further read our Correction Policy here. Never disregard professional medical advice or delay seeking medical treatment because of something you have read on or accessed through this website or it's social media channels. Read our Full Disclaimer Here for further information.

Saumya Jyotsna
Saumya Jyotsna
An award-winning journalist, Saumya brings out stories about grassroot level developments in the public health sector.

More in

Questions
Fact Check
Interviews
Stories
Videos

Last Updated on फ़रवरी 15, 2023 by Neelam Singh

Disclaimer: Medical Science is an ever evolving field. We strive to keep this page updated. In case you notice any discrepancy in the content, please inform us at [email protected]. You can futher read our Correction Policy here. Never disregard professional medical advice or delay seeking medical treatment because of something you have read on or accessed through this website or it's social media channels. Read our Full Disclaimer Here for further information.

Last Updated on फ़रवरी 15, 2023 by Neelam Singh

Disclaimer: Medical Science is an ever evolving field. We strive to keep this page updated. In case you notice any discrepancy in the content, please inform us at [email protected]. You can futher read our Correction Policy here. Never disregard professional medical advice or delay seeking medical treatment because of something you have read on or accessed through this website or it's social media channels. Read our Full Disclaimer Here for further information.

Last Updated on फ़रवरी 15, 2023 by Neelam Singh

Disclaimer: Medical Science is an ever evolving field. We strive to keep this page updated. In case you notice any discrepancy in the content, please inform us at [email protected]. You can futher read our Correction Policy here. Never disregard professional medical advice or delay seeking medical treatment because of something you have read on or accessed through this website or it's social media channels. Read our Full Disclaimer Here for further information.

Last Updated on फ़रवरी 15, 2023 by Neelam Singh

Disclaimer: Medical Science is an ever evolving field. We strive to keep this page updated. In case you notice any discrepancy in the content, please inform us at [email protected]. You can futher read our Correction Policy here. Never disregard professional medical advice or delay seeking medical treatment because of something you have read on or accessed through this website or it's social media channels. Read our Full Disclaimer Here for further information.

Last Updated on फ़रवरी 15, 2023 by Neelam Singh

Disclaimer: Medical Science is an ever evolving field. We strive to keep this page updated. In case you notice any discrepancy in the content, please inform us at [email protected]. You can futher read our Correction Policy here. Never disregard professional medical advice or delay seeking medical treatment because of something you have read on or accessed through this website or it's social media channels. Read our Full Disclaimer Here for further information.

More in

Questions
Fact Check
Interviews
Stories
Videos

Last Updated on फ़रवरी 15, 2023 by Neelam Singh

Disclaimer: Medical Science is an ever evolving field. We strive to keep this page updated. In case you notice any discrepancy in the content, please inform us at [email protected]. You can futher read our Correction Policy here. Never disregard professional medical advice or delay seeking medical treatment because of something you have read on or accessed through this website or it's social media channels. Read our Full Disclaimer Here for further information.

Last Updated on फ़रवरी 15, 2023 by Neelam Singh

Disclaimer: Medical Science is an ever evolving field. We strive to keep this page updated. In case you notice any discrepancy in the content, please inform us at [email protected]. You can futher read our Correction Policy here. Never disregard professional medical advice or delay seeking medical treatment because of something you have read on or accessed through this website or it's social media channels. Read our Full Disclaimer Here for further information.

Last Updated on फ़रवरी 15, 2023 by Neelam Singh

Disclaimer: Medical Science is an ever evolving field. We strive to keep this page updated. In case you notice any discrepancy in the content, please inform us at [email protected]. You can futher read our Correction Policy here. Never disregard professional medical advice or delay seeking medical treatment because of something you have read on or accessed through this website or it's social media channels. Read our Full Disclaimer Here for further information.

Last Updated on फ़रवरी 15, 2023 by Neelam Singh

Disclaimer: Medical Science is an ever evolving field. We strive to keep this page updated. In case you notice any discrepancy in the content, please inform us at [email protected]. You can futher read our Correction Policy here. Never disregard professional medical advice or delay seeking medical treatment because of something you have read on or accessed through this website or it's social media channels. Read our Full Disclaimer Here for further information.

Last Updated on फ़रवरी 15, 2023 by Neelam Singh

Disclaimer: Medical Science is an ever evolving field. We strive to keep this page updated. In case you notice any discrepancy in the content, please inform us at [email protected]. You can futher read our Correction Policy here. Never disregard professional medical advice or delay seeking medical treatment because of something you have read on or accessed through this website or it's social media channels. Read our Full Disclaimer Here for further information.

150,114फैंसलाइक करें
1,187फॉलोवरफॉलो करें
250सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें
READ MORE

Subscribe to our newsletter

Stay updated about fake news trending on social media, health tips, diet tips, Q&A and videos - all about health